LIC डेथ क्लैम करने के लिए ऐप्लकैशन कैसे लिखे | lIC death claim application letter format in hindi

Lic Death Claim Application Letter Format In Hindi: हम जब भी अपने एलआईसी पॉलिसी का Death Claim करते हैं तो हमें कई तरह के फॉर्म जमा करने की जरूरत होती है। इन्हीं में से एक डॉक्यूमेंट एप्लीकेशन लेटर का भी होता है। परंतु कई पॉलिसी धारक यह एप्लीकेशन लेटर सही ढंग से नहीं लिख पाते हैं। इसलिए वे Lic Death Claim Application Letter Format In Hindi: की तलाश करते हैं।

तो आइए आज के इस लेख में हम Lic Death Claim Application Letter Format In Hindi: को समझते हैं और जानते हैं कि यह मृत्यु दावा का प्रार्थना पत्र किस प्रकार से लिखा जाता है। तो चलिए शुरू करते हैं।

एलआईसी डेथ क्लेम एप्लीकेशन लेटर क्या है? (LIC Death Claim Application letter)

LIC Death Claim Application letter एक प्रकार का प्रार्थना पत्र होता है जो नॉमिनी द्वारा LIC कंपनी को लिखा जाता है।यह पत्र तब लिखा जाता है, जब पॉलिसी धारक की मृत्यु हो जाती है और नॉमिनी को Death Claim करना होता है।

इस एप्लिकेशन लेटर के द्वारा एलआईसी कंपनी को यह सूचित किया जाता है कि पॉलिसीधारक की मृत्यु हो गई है और अब वे पॉलिसीधारक की बीमा पॉलिसी का Death Claim Benefit लेना चाहते हैं। एलआईसी का डेथ क्लैम का एक लिमिटेड टाइम होता है जिसके अंडेर ही आपको ये सारा काम करना होता है।

इसे भी पढे:
> एलआईसी के चाइल्ड प्लान देखे।
> एलआईसी मे सम अशुर्ड (Sum Assured ) क्या होता है।

एलआईसी मृत्यु दावा पत्र का फॉर्मेट | Lic Death Claim Application Letter Format In Hindi:

डेथ क्लेम एप्लीकेशन लेटर को सही ढंग से लिखना बहुत ही ज्यादा जरूरी है क्योंकि यही वह पहला दस्तावेज होता है, जो हमें एलआईसी में जमा करना होता है और इस एप्लीकेशन के बाद से ही Death Claim की आगे की प्रक्रिया शुरू की जाती है। तो चलिए lic death claim application letter format in hindi को विस्तार पूर्वक समझते हैं।

दिनांक :

शाखा प्रबंधक

भारतीय जीवन बीमा निगम

शाखा कार्यालय (अपने एलआईसी ब्रांच का नाम लिखें)

विषय -: पॉलिसी संख्या (9 अंकों की पॉलिसी संख्या लिखें) स्वर्गीय (पॉलिसी धारक का नाम) के मृत्यु दावा सूचना के संबंध में

महोदय,

मुझे यह बड़े ही दुख के साथ सूचित करना पड़ रहा है कि मेरे पति (मृत व्यक्ति के साथ संबंध लिखें) स्वर्गीय (पॉलिसीधारक का नाम) की मृत्यु दिनांक ………….. को हो गई है।

मैं (अपना नाम लिखें) पॉलिसी के अंतर्गत नामित व्यक्ति हूं। और अपने पति के स्वर्गवास होने के कारण आपसे प्रार्थना करती हूं, कि मुझे मृत्यु दावा राशि का भुगतान किया जाए।

मृत्यु का स्थान ………………..

मृत्यु का कारण ………………..

मृत्यु का समय ………………..

प्रार्थी

दावेदार का नाम ………………..

हस्ताक्षर ………………..

पता ………………..

मोबाइल नंबर ………………..

ईमेल आईडी  ………………..

ऊपर दिए गए फॉर्मेट के हिसाब से आप अपना lic Death Claim Application Letter लिख सकते हैं और एलआईसी में जमा कर सकते हैं।

निष्कर्ष – Conclusion

आज के इस लेख में हमने lic death claim application letter format in hindi के बारे में जाना। उम्मीद है कि इसलिए एक में दिए गए format के अनुसार आप प्रार्थना पत्र लिख पाने में सक्षम होंगे। यदि आपको इस लेख से संबंधित कोई अन्य प्रश्न है तो हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करें।

इसे भी पढे:
> एलआईसी लेने के फायदे और नुकसान क्या है।
> एलआईसी का ECS Cancellation फॉर्म क्या होता है और इसे कैसे भरे।

FAQ’s

1. क्या डेथ क्लेम ऑनलाइन किया जा सकता है?

उत्तर:नहीं, सबसे पहले आपको एक एप्लीकेशन लेटर लिखकर अपने एलआईसी शाखा में जमा करना होगा। और आगे की कार्यवाही भी आपको ऑफलाइन करनी है।

2. मैं एलआईसी मृत्यु दावा पत्र कैसे लिखें?

उत्तर:इस लेख में हम ने विस्तारपूर्वक एलआईसी मित्र दावा पत्र लिखने का फॉर्मेट बताया है।

3. मै मृत्यु के बाद अपनी एलआईसी पॉलिसी ऑनलाइन कैसे क्लेम कर सकता हूं?

उत्तर:पॉलिसी धारक की मृत्यु के बाद यदि आप नॉमिनी है तो सबसे पहले पॉलिसी धारक की मृत्यु की सूचना एप्लीकेशन लेटर के माध्यम से अपने एलआईसी ब्रांच को दें। और उसके बाद आपकी सभी डेथ क्लेम प्रक्रिया ऑफलाइन ही की जाएगी।

4.डेथ क्लेम क्या है?

उत्तर: जब किसी पॉलिसी धारक की मृत्यु हो जाती है तो नॉमिनी को पालिसी धारक द्वारा की गई बीमा पॉलिसी क्लेम करनी पड़ती है। ऐसे ही डेथ क्लेम कहा जाता है।

Leave a Comment